Titanic से जुड़े 15 हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य

 

Titanic से जुड़े 15 हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य

Titanic से जुड़े 15 हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य
- आप सभी ने टाइटैनिक फिल्म जरूर देखी होगी क्योंकि यह हॉलीवुड की सबसे अधिक चर्चित एवं पसंदीदा फिल्मों में से एक है। दरअसल यह फिल्म असल कहानी पर आधारित है। अपने समय में दुनिया का सबसे बड़ा एवं मांगा जहाज टाइटैनिक 10 अप्रैल 1912 को इंग्लैंड से अपने पहले सफर के लिए समुद्र में निकला था। 14 अप्रैल 1912 को यह एक ही महिला से टकराकर डूब गया। इस घटना में 1517 लोगों की मृत्यु हो गई। शांति काल में यह इतिहास के सबसे बड़ी समुद्री आपदाओं में से एक है। इस आर्टिकल में हम आपको टाइटैनिक से जुड़े 15 हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं।

टाइटैनिक से जुड़े 15 हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य

  • तत्कालीन समय में टाइटैनिक दुनिया का सबसे लंबा जहाज एवं सबसे बड़ी मानव निर्मित वस्तु थी। इस जहाज की लंबाई 269 मीटर थी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस जहाज को 15000 कर्मचारियों ने मिलकर लगभग 24 महीने में तैयार किया था।
  • 31 मई 1911 को जब टाइटैनिक जहाज का उद्घाटन हुआ था तो इसे देखने के लिए लगभग 100000 लोग इकट्ठा हुए थे।
  • उस समय टाइटैनिक जहाज के फर्स्ट क्लास टिकट की कीमत $4375 थी। यदि वर्तमान समय से इसकी तुलना की जाए तो इसकी कीमत लगभग $100000 होती।
  • उस समय टाइटैनिक जहाज में जो चिमनी या लगाई गई थी उनका आकार कितना बड़ा था कि उनमें से दो ट्रेनें आराम से गुजर सकती थी। यानी यह किसी बड़े सुरंग की तरह था।
  • लंदन के रिट्ज होटल की तर्ज पर टाइटैनिक जहाज के अंदर की सजावट की गई थी। इस जहाज में स्विमिंग पूल, जिम, लाइब्रेरी, इत्यादि कई प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध थी।
  • इस जहाज में फर्स्ट क्लास टिकट लेकर यात्रा कर रहे लोगों के लिए बियर की 20000 बोतलें शराब की 15000 बोतलें और लगभग 3000 सिगार उपलब्ध थे।
  • टाइटैनिक जहाज में कुल 4 चिमनियाँ लगी हुई थी। इन में से 3 चिमनियां काम करती थी जबकि चौथी चिमनी को जहाज के संतुलन बनाने के लिए नकली लगाया गया था।
  • टाइटैनिक जहाज को चलाने के लिए प्रतिदिन 600 टन कोयले की आवश्यकता पड़ती थी। इसको प्रबंधित करने के लिए 176 लोग लगे हुए थे। इस 600 टन कोयले से लगभग 100 टन राख निकलता था, जिसे समुद्र में ऐसे ही बहा दिया था।
  • टाइटैनिक जहाज की पहली सफर के दौरान 26 जोड़ें अपना हनीमून मनाने गए थे। लेकिन जहाज डूबने के कारण उन सब की मौत हो गई। यदि आप टाइटैनिक फिल्म देखेंगे तो आपको इसकी कहानी के बारे में और भी अच्छी तरह से जानकारी हो जाएगी।
  • टाइटैनिक जहाज पर यात्रा कर रहे यात्रियों एवं उसके स्टाफ के भोजन के लिए लगभग 86,000 पौंड मीट, लगभग 40 हजार अंडे, 40 टन आलू, 3500 पौंड प्याज एवं लगभग 36,000 सेब की व्यवस्था थी।
  • समुद्री यात्रा कर रहे लोगों को देश-दुनिया की खबरों से रूबरू कराने के लिए टाइटैनिक जहाज पर प्रतिदिन अखबार की छपाई भी होती थी। इस अखबार में व्यापार जगत हॉर्स रेसिंग रिजल्ट और दिनभर की दिनचर्या के बारे में लिखा जाता था। इसके अलावा इस अखबार में विज्ञापन भी छपे होते थे।
  • टाइटैनिक जहाज के कप्तान का नाम एडवर्ड स्मिथ था, जिसकी भी जहाज डूबने से मौत हो गई थी। बाद में एडवर्ड स्मिथ की याद में एक स्मारक भी बनाया गया।
  •  मनोरंजन के लिए फर्स्ट क्लास टिकट लेकर यात्रा कर रहे यात्रियों के लिए 352 गानों की एक लिस्ट दी गई थी। यात्री अपने अनुसार किसी भी गाने की फरमाइश कर सकते थे और वहां पर मौजूद म्यूजिशियन को वह गाना बजाना पड़ता था।
  • टाइटैनिक लगभग 100 फीट ऊंचे हिम पर्वत से टकराया था। हालांकि इस हिमपर्वत के बारे में कंट्रोल रूम द्वारा जहाज के स्टाफ को 6 बार आगाह किया गया था। जैसे ही स्टाफ को यह ऊंचा हिम पर्वत दिखाई दिया उसके 37 सेकंड बाद ही टाइटैनिक उससे जा टकराया और डूब गया।
  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टाइटैनिक जहाज जिस हिमपर्वत से टकराकर डूब गया था वह लगभग 2900 साल पहले से ही समुद्र में तैर रहा था। कहा जाए तो जहाज स्टाफ की लापरवाही की वजह से इतिहास की यह सबसे बड़ी दुर्घटना हो गई। हिम पर्वत से टकराने के 2 घंटे 40 मिनट बाद टाइटैनिक डूबा था।

Previous
Next Post »

Hello Friends,Post kaisi lagi jarur bataye aur post share jarur kare. ConversionConversion EmoticonEmoticon