कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग कैसे करें?

 

कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग कैसे करें?

कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग कैसे करें? How To Use Power Of Gratitude? - आप सभी ने अपने जीवन में कृतज्ञता (Gratitude) के बारे में जरूर सुना होगा। बहुत सारे लोगों के जीवन में तरह-तरह की परेशानियां आती रहती हैं और लोग उस परेशानियों के बारे में सोचते हैं। आकर्षण का नियम (Law Of Attraction) यह कहता है कि यदि आप किसी चीज के बारे में बहुत अधिक सोचते हैं तो वह बढ़ने लगता है। 

इसलिए यदि आप अपने परेशानियों के बारे में बहुत अधिक सोचते हैं तो वह बढ़ने ही लगती है। ऐसे में कृतज्ञता की शक्ति (Power Of Gratitude) का प्रयोग करना जरूरी है। यानी आप उन सभी चीजों को धन्यवाद दें जिनकी वजह से आप किसी चीज का प्रयोग कर पा रहे हैं। किस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग कैसे करें? How To Use Power Of Gratitude?

Read More - नकारात्मक सोच को सकारात्मक रूप में कैसे बदलें? जानिए 5 टिप्स

वर्तमान समय में लोग प्रकृति एवं ब्रह्मांड की इज्जत नहीं करते हैं। वर्तमान समय में जितनी भी सारी चीजें पृथ्वी पर चल रही है वे सभी प्रकृति एवं ब्रह्मांड की देन है। यदि प्रकृति ने इस ब्रह्मांड के अंदर बहुत सारी चीजें न दी होती तो शायद आज हम कृत्रिम चीजों का भी सही से इस्तेमाल नहीं कर पाते। 

ब्रह्मांड के किसी भी कृत्रिम चीज में भी प्रकृति का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसीलिए हमें हर समय प्रकृति एवं ब्रह्मांड को धन्यवाद देना चाहिए। क्योंकि आज ब्रह्मांड में प्रकृति की वजह से ही हम तकनीकी का अच्छी तरह से प्रयोग कर पा रहे हैं। इसीलिए आपको प्रकृति के साथ-साथ ब्रह्मांड का भी जरूर धन्यवाद देना चाहिए।

कृतज्ञता क्या है? What Is Gratitude?

कृतज्ञता एक ऐसा मेडिटेशन है जिसमें हम उस व्यक्ति या चीज को शुक्रिया अदा करते हैं जिनकी वजह से हम उसका इस्तेमाल कर पा रहे हैं। जैसे वर्तमान समय में हमारे पास जो भी सुख सुविधाएं हैं उसमें प्रकृति का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसके साथ ही साथ हम इस पृथ्वी पर जीवित हैं इसमें भी प्रकृति का बहुत बड़ा योगदान है। ऐसी स्थिति में हमें प्रकृति का शुक्रिया अदा करना चाहिए इसे ही कृतज्ञता कहते हैं। 

कृतज्ञता का अर्थ सिर्फ प्रकृति या ब्रह्मांड को धन्यवाद देना नहीं है बल्कि यदि कोई व्यक्ति आपके लिए अच्छा काम कर रहा है तो आप उसे धन्यवाद दे सकते हैं। इसे भी कृतज्ञता कहा जाता है। इसके साथ ही साथ हम किसी शक्ति को लेकर सकारात्मक सोचते हैं और उसे धन्यवाद देते हैं, जिसने आज हमें यह सारी सुख सुविधाएं प्रदान की है। इसी धन्यवाद करने की तकनीकी को कृतज्ञता का नियम कहा जाता है।

कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग कैसे करें? How To Use Power Of Gratitude?

यदि आप कृतज्ञता के शक्ति (Power Of Gratitude) का प्रयोग करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे बताई गई बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है। इसीलिए अब हम आपको बताएंगे कि कृतज्ञता के शक्ति का प्रयोग कैसे करें? How To Use Power Of Gratitude?

1. कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले आप अपनी सोच सकारात्मक रखें और अपने द्वारा प्राप्त किए गए चीजों के लिए ब्रह्मांड का धन्यवाद करें।

2. कृतज्ञता की शक्ति का प्रयोग करते समय आपके मन में ब्रह्मांड के लिए एक अच्छी भावना होनी चाहिए। उसको धन्यवाद करते समय सिर्फ आपके शब्द ही नहीं आपकी भावना भी उसके प्रति समर्पित होने चाहिए।

3. आपको ब्रह्मांड ने जो चीजें प्रदान की हैं उसके लिए ब्रह्मांड का शुक्रिया अदा करें। लेकिन यदि आपके पास कोई भी चीज नहीं है तो उसके लिए कड़ी मेहनत करके उसे प्राप्त करने की कोशिश करें। इसके लिए आप ब्रह्मांड से सकारात्मक प्रार्थना करें और उससे वह चीज प्राप्त करने का वादा करें।

4. कृतज्ञता की शक्ति (Power Of Gratitude) का प्रयोग करके ब्रह्मांड या प्रकृति को धन्यवाद दे रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप अपने जीवन में पूरी तरह से खुश हैं और आपकी सोच सकारात्मक है। इस तरह से आप आगे अपने जीवन में अच्छी तरह से सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

5. आपको बता दें कि ब्रह्मांड में एक ऐसी शक्ति है जो सभी चीजों को सुचारू रूप से चलाने का काम करती है। इसीलिए हमने यहां पर ब्रह्मांड शब्द का प्रयोग ब्राह्मण में चल रही उस शक्ति के लिए ही किया है। इसीलिए आपब्रह्मांड में चल रही उस शक्ति का धन्यवाद करें जो आपके जीवन को और इस ब्रह्मांड को सुचारु रुप से चला रही है।

Previous
Next Post »

Hello Friends,Post kaisi lagi jarur bataye aur post share jarur kare. ConversionConversion EmoticonEmoticon