इंटरनेट इतिहास की वे 7 शानदार घटनाएं जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे

 

इंटरनेट इतिहास की वे 7 शानदार घटनाएं जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे

इंटरनेट इतिहास की वे 7 शानदार घटनाएं जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे
- आजकल इंटरनेट का इतना अधिक विकास हो चुका है कि हम घर बैठे कई सारे काम ऑनलाइन पूरे कर सकते हैं। आज के युग की इंटरनेट के बिना कल्पना करना भी काफी मुश्किल लगता है। इसीलिए इस युग को इंटरनेट एवं कंप्यूटर का युग कहा जाता है। इंटरनेट के जरिए आप अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर की मदद से किसी भी चीज के बारे में बड़े ही आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इंटरनेट ने हमारे जीवन को काफी आसान बना दिया है। यदि आप इंटरनेट का प्रयोग करते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको इंटरनेट इतिहास की वे 7 शानदार घटनाएं बताएंगे जिसके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे।

1. स्पैम की शुरूआत

यदि आप इंटरनेट का प्रयोग करते हैं तो स्पैम के बारे में जरूर जानते होंगे। आज के समय में फ्रॉड कॉल, मैसेज या ईमेल के जरिए काफी अधिक स्पैम होता है। इसीलिए जीमेल ने अपने ईमेल अकाउंट में स्पैम का अलग से फोल्डर भी बना दिया है। यदि उसे यह लगता है कि कोई स्पैम ईमेल है तो वह उसे स्पैम फोल्डर में डाल देता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंटरनेट इतिहास में पहला स्पैम एक ईमेल के जरिए ही हुआ था। 

दरअसल साल 1978 में गैरी थूकर ने कई इंटरनेट यूजर्स को एक ईमेल भेजा था। वर्तमान समय में इसे ईमेल मार्केटिंग भी कहा जाता है। हालांकि उस समय के लोगों को यह पता नहीं था कि यह एक स्पैम है लेकिन जब उन्हें इस बात की थोड़ी बहुत भनक लगी तो उन्होंने ई-मेल कंपनी को शिकायत करना शुरू किया। हालांकि तब तक गैरी थूकर ने काफी पैसे कमा लिए थे। हालांकि इसे स्पैम नहीं कहा गया लेकिन फिर भी गहरी थूकर को ईमेल स्पैमिंग का जनक कहा जाता है। हालांकि वे खुद को ईमेल मार्केटिंग का जनक मानते हैं।

2. दुनिया का पहला लाइवस्ट्रीम

आप में से बहुत ही कम लोग यह जानते होंगे कि दुनिया का पहला लाइव स्ट्रीम कब हुआ था और किस व्यक्ति ने किया था? हालांकि इसको लेकर भी एक विवाद है। दरअसल कुछ लोग यह मानते हैं कि दुनिया का पहला लाइव स्ट्रीम 22 नवंबर 1993 को एक ट्रोजन रूम कॉफी पॉट हुई थी, जबकि कुछ लोग यह मानते हैं कि साल 1993 में एक शो को इंटरनेट पर लाइव टेलीकास्ट करने के लिए लाइव स्ट्रीमिंग तकनीकी का प्रयोग किया था। हालांकि 1994 में  The Rolling Stones अपने काम की लाइव स्ट्रीमिंग करते थे।

3. पहली डेटिंग साइट

आज के समय में डेटिंग एप्लीकेशन या डेटिंग साइट की डिमांड काफी बढ़ चुकी है। लेकिन बहुत ही कम लोगों को यह जानकारी होगी कि दुनिया की पहली डेटिंग साइट कौन सी थी और इसे कब लांच की गई थी? दरअसल दुनिया की पहली डेटिंग साइट 1995 में लांच की गई थी जिसका नाम match.com था। वर्तमान समय में बहुत सारे डेटिंग साइट एवं एप्लीकेशन लॉन्च किए जा चुके हैं और बहुत सारे लोग उसका प्रयोग भी कर रहे हैं।

4. Free Music Access

वर्तमान समय में ऐसे बहुत सारे ऑनलाइन एप्लीकेशन लॉन्च हो चुके हैं, जिनके जरिए आप फ्री में गाने सुन सकते हैं। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले गाने सिर्फ टीवी पर दिखाए जाते थे और आप बिना गाने बनाने वाले लोगों की अनुमति के उसे डाउनलोड नहीं कर सकते थे। लेकिन 1999 में ने पोस्टर नाम के एक शख्स ने मोबाइल में किसी भी गाने को एक्सेप्ट करने और उसे शेयर करने की सुविधा शुरू की। उस समय 80 मिलियन लोगों ने अपने मोबाइल में गाने सुनने शुरू कर दिए। 

5. Adob Photoshop

शुरुआत में सिर्फ फोटो कैप्चर करने के लिए कैमरे बनाए गए थे। लेकिन कैप्चर किए गए फोटो को एडिट करने की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी। इसी को देखते हुए 1990 में ऐड होने फोटोशॉप लांच किया जिसके जरिए आप बेहतरीन फोटो एडिटिंग कर सकते हैं और अपनी फोटो को खूबसूरत रूप दे सकते हैं। आज भी जब कभी फोटो एडिटिंग के लिए सबसे अच्छे टूल की बात होती है तो ऐड अब फोटो साफ का नाम सबसे पहले आता है। 

6. Hotmail

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शुरुआत में कुछ मुख्य कंपनियां एवं सरकारी ऑफिस ही ईमेल का उपयोग कर सकते थे। लेकिन हॉटमेल ने 1996 में इसे पब्लिक के लिए उपलब्ध करा दिया। इसीलिए यह पहली मुफ्त वेब आधारित ईमेल सुविधा प्रदान कराने वाली कंपनी बन गई थी। हालांकि आज के समय में जीमेल के सबसे अधिक यूजर बन चुके हैं । क्योंकि वह अन्य किसी ईमेल सर्विस के मुकाबले आसान सुविधाएं देता है। 

7. DDOS Attack (Distributed Denial-of-Service Attack)

DDOS Attack किसी भी वेबसाइट या एप्लीकेशन को डाउन करने की कोशिश करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। इस प्रक्रिया को हैकिंग भी कहा जाता है। लेकिन आपको शायद ही यह पता होगा कि दुनिया का सबसे पहला DDOS Attack कब, कहां और किसने किया था? दरअसल फरवरी 2000 में स्कूली छात्र माइक (माफियाबॉय) ने सबसे पहले DDOS attack किया था। इसके कारण कई कंपनियां को काफी समस्या भी हुई थी। दरअसल यह DDOS Attack सिर्फ दूसरे हैकरों को डराने के उद्देश्य से किया गया था।
















Previous
Next Post »

Hello Friends,Post kaisi lagi jarur bataye aur post share jarur kare. ConversionConversion EmoticonEmoticon