Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children

Hindi Bedtime 5 Top inspirational Stories for children (बच्चों के लिये सोते समय 5 प्रेरणादायक कहानी):

Hello Friends, कैसे हैं आप ? हमें पूरी उम्मीद है आप सब अच्छे ही होंगे इस पोस्ट में "Hindi Bedtime Top 5 Inspirational Stories for Children" पर एक जबरदस्त टॉपिक लेकर हाजिर हैं यह पांचों कहानियां प्रेरणादायक हैं जो हमारे जीवन से संबंधित है

Hindi Bedtime inspirational Stories 1

Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children
Hindi Bedtime Stories

एक आदमी कहीं से गुजर रहा था तभी उसने सड़क के किनारे बँधे हाथियों को देखा और अचानक रुक गया उसने देखा कि हाथियों के अगले पैर में एक रस्सी बंधी हुई है उसे इस बात का बड़ा आश्चर्य हुआ की हाथी जैसे विशालकाय जीव लोहे की जंजीरों की जगह बस एक छोटी सी रस्सी से बंधे हुए हैं ये स्पष्ट था कि हाथी जब चाहते तब अपने बंधन तोड़ कर कहीं भी जा सकते थे पर किसी वजह से वह ऐसा नहीं कर रहे थे 

उस आदमी ने हाथी के पास खड़े महावत से पूछा कि भला ये हाथी इस प्रकार इतनी शांति से खड़े हैं और भागने का प्रयास नहीं कर रहे हैं तब महावत ने कहा इन हाथियों को छोटे पर से ही रस्सियों से बांधा जाता था उस समय इनके पास इतनी शक्ति नहीं होती कि इस बंधन को तोड़ सके बार-बार प्रयास करने पर भी रस्सी ना तोड़ पाने के कारण उन्हें धीरे-धीरे यकीन हो जाता है कि वह रस्सियों को नहीं तोड़ सकते और बड़े होने पर भी उनका यकीन बना रहता है इसलिए वह कभी इसे तोड़ने का प्रयास ही नहीं करते आदमी आश्चर्य में पड़ गया कि यह ताकतवर जानवर सिर्फ इसलिए अपना बंधन नहीं तोड़ते क्योंकि वह  छोटे पर मिली असफलता को मानकर बड़े होने पर प्रयास ही नहीं करता है 

शिक्षा

इन हाथियों की तरह ही हम में से कितने लोग सिर्फ पहले मिली असफलता के कारण ये मान बैठते हैं कि अब हमसे ये काम हो ही नहीं सकता और अपनी ही बनाईं हुई मानसिक जंजीरों में जकड़े-जकड़े पूरा जीवन गुजार देते हैं याद रखिये असफलता जीवन का एक हिस्सा है और निरंतर प्रयास करने से सफलता मिलती है यदि आप भी ऐसे किसी बंधन में बंधे हैं जो आपको अपने सच करने से रोक रहा है तो उसे तोड़ डालिये आप हाथी नहीं इंसान हैं

"हर जलते दीपक तले अंधेरा होता है हर रात के पीछे एक सवेरा होता है लोग डर जाते हैं मुसीबत को देखकर हर मुसीबत के पीछे सच का सवेरा होता है"

Hindi Bedtime inspirational Stories 2


Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children
Hindi Bedtime Stories

एक समय की बात है एक गाँव में एक आदमी आया और उसने गाँव वालों से कहा कि वह बंदर खरीदने आया है और उनको एक बन्दर के ₹10 देगा । गाँव में बहुत सारे बंदर थे इसलिए गाँव वाले तुरंत इस काम में लग गए उस आदमी ने ₹10 की रेट से 1000 बंदर खरीद लिए अब बंदरों की सप्लाई काफी घट गई और धीरे-धीरे गाँव वालों ने बंदर पकड़ने का प्रयास बंद कर दिया ऐसा होने पर उस आदमी ने फिर घोषणा किया कि वह ₹20 में एक बंदर खरीदेगा ऐसा सुनते ही गाँव वाले फिर से बंदरों को पकड़ने में लग गए बहुत जल्द बंदरों की संख्या इतनी घट गई कि लोग यह काम छोड़ कर अपनी खेती बारी में लगने लगे अब एक बंदर के ₹25 दिए जाने लगे पर उनकी तादाद इतनी कम हो चुकी थी कि पकड़ना तो दूर उन्हें देखने के लिए भी बहुत मेहनत करनी पड़ती थी तब उस आदमी ने घोषणा किया कि वो एक बंदर के ₹50 देगा पर इस बार उसकी जगह बंदर खरीदने का काम उसका असिस्टेंट करेगा क्योंकि उसे किसी जरूरी काम से कुछ दिनों के लिए शहर जाना पड़ रहा है 

उस आदमी की गैर मौजूदगी में असिस्टेंट ने गाँव वालों से कहा कि पिजड़े में बंद बंदरो को ₹35 में उससे खरीद लें और जब उसका मालिक वापस आए तो उसे ₹50 में बेच दें फिर क्या था गाँव वालों ने अपनी जमा पूंजी बंदरों को खरीदने में लगा दिया और उसके बाद ना कभी वह आदमी दिख और ना ही उसका असिस्टेंट बस चारों तरफ बंदर ही बंदर थे इस तरह से दोनों आदमी ने बड़ी चतुराई से गाँव वालों को लालच देकर बेवकूफ बना दिया ।

शिक्षा

दोस्तों कुछ ऐसा ही होता है जब बिना ज्यादा मेहनत के पैसा आता दिखता है तो अच्छे-अच्छे लोगों की आंखें चौधिया जाती हैं और वह अपने तर्कसंगत दिमाग की ना सुनकर लालच में फंस जाते हैं और अंत में उसका बुरा ही होता है इसलिए कभी भी ऐसे लुभावने वादों में मत आइये ।

"अज्ञानता और लालच ही संसार में दुख के दो प्रमुख कारण हैं"

Hindi Bedtime inspirational Stories 3

Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children
Hindi Bedtime Stories

एक बार एक आदमी को अपने गार्डन में टहलते हुए किसी टहनी से लटकता हुआ एक तितली का कोकून दिखाई पड़ा अब हर रोज वह आदमी उसे देखने लगा और एक दिन उसने नोटिस किया कि उस कोकून में एक छोटा सा छेद बन गया है उस दिन वह वहीं बैठ गया और घंटो उसे देखता रहा उसने देखा कि तितली उस खोल से बाहर निकलने की बहुत कोशिश कर रही है पर बहुत देर तक प्रयास करने के बाद भी वह छेद से नहीं निकल पाई और फिर वह बिल्कुल शांत हो गई मानो उसने हार मान ली हो इसलिए उस आदमी ने निश्चय किया कि वह उस तितली की मदद करेगा 

उसने एक कैंची उठाई और कोकून की ओपनिंग को इतना बड़ा कर दिया कि वह तितली आसानी से बाहर निकल सके और यही हुआ तितली बिना किसी और संघर्ष के आसानी से बाहर निकल आई पर उसका शरीर सूजा हुआ था और पंख सूखे हुए थे वह आदमी तितली को ये सोच कर देखता रहा कि वो किसी भी वक़्त अपने पंख फैला कर उड़ने लगेगी पर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ इसके उल्टा बेचारी तितली कभी उड़ ही नहीं पाई और उसे अपनी बाकी की जिंदगी इधर-उधर भटकते हुए बितानी पड़ी

वह आदमी अपनी दया और जल्दबाजी में यह नहीं समझ पाया की दरअसल कोकून से निकलने की प्रक्रिया को प्रकृति ने इतना कठिन इसलिए बनाया है ताकि ऐसा करने से तितली के शरीर में मौजूद तरल उसके पंखों में पहुच सके और वह क्षेत्र से बाहर निकलते ही उड़ सके 

शिक्षा

वास्तव में कभी-कभी हमारे जीवन में संघर्ष ही वह चीज होती है जिसकी हमें सचमुच आवश्यकता होती है यदि आप बिना किसी Struggle के सब कुछ पाने लगे तो हम भी एक अपंग के सामान हो जाएंगे बिना परिश्रम और संघर्ष के हम कभी उतने मजबूत नहीं बन सकते जितना हमारी क्षमता है इसलिए जीवन में आने वाले कठिन पलों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखिए वह आपको कुछ ऐसा सिखा जाएगा जो आपकी जिंदगी की उड़ान को Possible बना देगा

"खुद पर हो विश्वास और कर्म पर हो आस्था फिर कितनी ही बांधा आये मिल जाता है रास्ता"

Hindi Bedtime inspirational Stories 4


Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children
Hindi Bedtime Stories

गुब्बारे वाला एक आदमी गुब्बारे बेचकर जीवन यापन करता था वह गाँव के आस-पास लगने वाली बाजारों में जाता और गुब्बारे बेचता । बच्चों को लुभाने के लिए वह तरह-तरह के गुब्बारे रखता लाल,पीले,हरे,नीले.. और जब भी कभी उसे लगता की बिक्री कम हो रही है वह झट से एक गुब्बारा हवा में छोड़ देता जिसे उड़ता देखकर बच्चे खुश हो जाते हैं और गुब्बारे खरीदने के लिए पहुँच जाते इसी तरह एक दिन वह बाजार में गुब्बारे बेच रहा था और बिक्री बढ़ाने के लिए बीच-बीच में गुब्बारे उड़ा रहा था 

पास ही खड़ा एक छोटा सा बच्चा यह सब बड़ी जिज्ञासा के साथ देख रहा था इस बार आदमी ने एक सफेद गुब्बारे को उड़ाया लड़का तुरंत उसके पास पहुँचा और मासूमियत से बोला अगर आप यह काला वाला गुब्बारा छोड़ेंगे तो क्या वह भी ऊपर जाएगा गुब्बारे वाले ने पहले सोचा थोड़ी देर के बाद बोला हाँ बिल्कुल जाएगा बेटे गुब्बारे का ऊपर जाना इस बात पर नहीं निर्भर करता है कि वह किस रंग का है बल्कि इस बात पर निर्भर करता है कि उसके अंदर क्या है गुब्बारा अपने रंग से नही बल्कि अपने अंदर की क्वालिटी के वजह से उड़ता है 

शिक्षा

इसी तरह से हम इंसानों के लिए भी यह बात लागू होती है कोई अपनी लाइफ में Achieve करेगा ये सब उसके बाहरी रंग रूप पर नहीं Depend करता है इस बात पर डिपेंड करता है कि उसके अंदर क्या है उसकी सोच कैसी है वह कितना मेहनती है

"कुछ कर गुजरने के लिए रंग रूप नहीं गुण चाहिए साधन सभी जुट जाएंगे संकल्प का धन चाहिए"

Hindi Bedtime inspirational Stories 5

Hindi Bedtime Top 5 inspirational Stories for children
Hindi Bedtime Stories


हंसों का एक झुंड समुद्र के ऊपर से गुजर रहा था उसी जगह कौवा भी मौज मस्ती कर रहा था उसने हंसो को उपेक्षा भरी नजरों से देखा तुम लोग कितनी अच्छी उड़ान भर लेते हो कौवा मजाक के लहजे में बोला तुम लोग और कर भी क्या सकते हो बस अपना पंख फड़फड़ा कर उड़ान भर सकते हो क्या तुम मेरी तरह फुर्ती से उड़ान भर सकते हो ? मेरी तरह हवा में कलाबाजी दिखा सकते हो ? नहीं तुम तो ठीक से जानते भी नहीं कि उड़ना किसे कहते हैं ?

कौवे की बात सुनकर एक वृद्ध हंस ने बोला," ये अच्छी बात है कि तुम यह सब कर सकते हो लेकिन तुम्हें इस बात पर घमंड नहीं करना चाहिए " कौवे ने बोला मैं घमंड वमंड नहीं जानता अगर तुम में से कोई भी मेरा मुकाबला कर सकता है तो सामने आए और मुझे हराकर दिखाये एक युवा नर हंस ने कौवे की चुनौती स्वीकार कर लिया । अब निर्णय यह हुआ कि दोनों के बीच एक प्रतियोगिता होगी । प्रतियोगिता दो चरणों में होगी पहले चरण में कौवा अपने करतब दिखाएगा और हंस को भी वही करके दिखाना होगा और दूसरे चरण में कौवे को हंस के करतब दोहराने होंगे

प्रतियोगिता शुरू हुई पहले चरण की शुरुआत कौवे ने की और एक से बढ़कर एक कलाबाजी दिखाने लगा वह कभी गोल-गोल चक्कर खाता तो कभी जमीन छूते हुए ऊपर उड़ जाता वहीं हंस उसके मुकाबले कुछ खास नहीं कर पा रहा था कौवा और भी बढ़ चढ़कर बोलने लगा मैं तो पहले ही कह रहा था कि तुम लोगों को और कुछ भी नहीं आता है

फिर दूसरा चरण शुरू हुआ हंस ने उड़ान भरी और समुद्र की तरफ उड़ने लगा कौवा भी उसके पीछे हो लिया यह कौन सा कमाल दिखा रहे हो भला सीधे-साधे उड़ना भी कोई चुनौती है सच में तुम मूर्ख हो कौवा बोला, इस पर हंस ने कोई जवाब नहीं दिया और चुपचाप उड़ता रहा, धीरे-धीरे वे जमीन से बहुत दूर होते गए और कौवे का बढ़ बढ़ाना भी कम होता गया और कुछ देर में बिल्कुल ही बंद हो गया कौवा अब पूरी तरह थक चुका था इतना कि अब उसके लिए खुद को हवा में रखना भी मुश्किल हो रहा था और वह बार-बार पाने की करीब पहुँच रहा था हंस कौवे की स्थिति समझ रहा था पर उसने अनजान बनते हुए कहा तुम बार-बार पानी क्यों छू रहे हो क्या यह तुम्हारी कोई करतब है ? नहीं कौवा बोला मुझे माफ कर दो मैं अब बिल्कुल थक चुका हूँ और तुमने मेरी मदद नहीं की तो मैं यही दम तोड़ दूंगा मुझे बचा लो मैं कभी घमंड नहीं दिखाऊंगा

हंस को कौवे पर दया आ गई  उसने सोचा कि चलो कौवा सबक तो सीख ही चुका है अब उसकी जान बचाना ही ठीक होगा और वह कौवे को अपनी पीठ पर बैठाकर वापस तट की ओर उड़ चला ।

शिक्षा

दोस्तों हमें इस बात को समझना चाहिए कि भले ही हमें पता ना हो पर हर किसी में कुछ ना कुछ क्वालिटी होती है जो उसे विशेष बनाती है और भले ही हमारे अंदर हजारों अच्छाईयां हो पर यदि हम उस पर घमंड करते हैं तो देर सवेर हमें कौवे की तरह शर्मिंदा होना पड़ेगा । हमें लाख गुण होने पर भी घमंड नहीं करना चाहिए 

"समुद्र को घमंड था कि वो पूरी दुनिया को डुबा सकता है इतने में एक तेल की बूँद आयी और उस पर तैर कर निकल गई"
दोस्तों ! मुझे आशा है कि हिंदी में दी गई 'Bedtime Top 5 inspirational Stories for children' आपको पसन्द आये होंगें फिर भी आपके मन में कोई सवाल है तो Comment करके जरूर बताइए मैं उसका जवाब देने की पूरी कोशिश करूँगा ।

Previous
Next Post »

Hello Friends,Post kaisi lagi jarur bataye aur post share jarur kare. ConversionConversion EmoticonEmoticon